सर्च इंजन क्या होता है? जानिए विस्तार से - TechGuruHindi

by - May 11, 2020

Search engine kya hota hai

आज के समय में लगभग हर व्यक्ति इंटरनेट से जुड़ा हुआ है। इंटरनेट को अत्यधिक आधुनिक और सुविधाजनक बनाने में सर्च इंजन मुख्य भूमिका निभाता है। ज्यादातर लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते वक्त सर्च इंजन का इस्तेमाल तो करते ही हैं परन्तु उसके बावजूद भी अधिकतर लोग यह नहीं जानते हैं कि आखिर सर्च इंजन क्या होता है? इस सवाल का जवाब बेहद ही आसान है क्योकि इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाले लगभग सभी लोग सर्च इंजन का इस्तेमाल करते ही हैं परन्तु फिर भी लोग इसके बारे में नहीं जानते और यदि जानते हैं तो वह विस्तार से इसके बारे में नहीं जानते हैं।

तो दोस्तों अगर आप भी उन लोगो में से हैं जो सर्च इंजन क्या होता है? इसके बारे में नहीं जानते अथवा विस्तार से नहीं जानते हैं और अगर आप इसके बारे में जानना चाहते हैं तो आप हमारी इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें क्योकि इस पोस्ट में आपको विस्तार से बताएंगे कि सर्च इंजन क्या होता है? तो आइए दोस्तों जानते हैं -


सर्च इंजन क्या होता है?

सर्च इंजन एक प्रकार से WWW अथवा वेब पर आधारित एक Tool है जिसकी मदद से हम इंटरनेट पर WWW में संग्रहित फाइलों और जानकारियों अथवा डाटा तक बेहद ही आसानी से पहुंच पाते हैं। दूसरे शब्दों में, सर्च इंजन इंटरनेट में WWW पर संग्रहित डाटा को खोजने का कार्य करता है और सर्च इंजन यूजर द्वारा खोजी गई जानकारियों के लिंक्स को इकट्ठा करके सर्च रिजल्ट के रूप में एक पेज में उन सभी की लिस्ट तैयार करता है। अगर हम प्रसिद्ध सर्च इंजनों की बात करें तो Google, Bing और Yahoo आदि ये सभी पूरे विश्व के सबसे प्रसिद्ध सर्च इंजन हैं। इंटरनेट के अधिकतर यूजर इन्ही सर्च इंजन की मदद से इंटरनेट पर जानकारियाँ खोजते हैं।

जैसा कि आप जानते ही होंगे कि इंटरनेट की मदद से सूचना का आदान-प्रदान किया जाता है और इंटरनेट से सूचना को प्रदान करने में सर्च इंजन मुख्य भूमिका निभा रहा है क्योकि इंटरनेट पर सर्च इंजन की मदद से हम इंटरनेट पर सभी संग्रहित जानकारी को खोज सकते हैं। दूसरे शब्दों में, आपको यह तो पता ही होगा कि इंटरनेट पर वर्ल्ड वाइड वेब में जानकारियाँ, डाटा और फाइल्स आदि विशाल मात्रा में संग्रहित है और इन्ही असीमित डाटा और फाइलों तक पहुंचने के लिए सर्च इंजन का इस्तेमाल किया जाता है।

Search Engines की लिस्ट

इंटरनेट के बढ़ते इस्तेमाल के चलते सर्च इंजन्स की संख्या भी बहुत ज्यादा बढ़ चुकी है तो आइए जानते हैं उन सर्च इंजन्स के बारे में -

  1. Google
  2. Bing
  3. Yahoo
  4. AOL
  5. Ask.com
  6. Baidu
  7. Excite
  8. Wolfram Alpha
  9. Yandex
  10. Lycos

सर्च इंजन कैसे काम करता है?

हम सब जो भी चीज इंटरनेट पर सर्च इंजन की मदद से खोजते हैं तो हम सर्च इंजन के सर्च बॉक्स वे शब्द लिखते हैं और जो शब्द हम सर्च इंजन के सर्च बॉक्स में लिखते हैं वे शब्द कीवर्ड(Keyword) कहलाते हैं। इन्ही कीवर्डस(Keywords) के आधार पर सर्च इंजन हमें परिणाम(Results) दिखाता है। सर्च इंजन द्वारा डाटा को इकट्ठा करके उसे यूजर की इच्छानुसार उस तक पहुँचाने तक का पूरा कार्य तीन चरणों में बँटा हुआ है -

  1. Crawling
  2. Indexing
  3. Ranking

1. Crawling

यह एक वेब प्रोग्राम है। यह प्रक्रिया Crawlers के द्वारा करी जाती है जिसे स्पाइडर(Spider) भी कहते हैं। ये क्रॉलर अथवा स्पाइडर्स सभी वेबसाइटस पर जाकर उन्हें स्कैन(Scan) करने का कार्य करता है। यह क्रॉलर्स ऑटोमेटिक होते हैं और ये किसी वेबसाइट के वेबपेज पर बेहद ही गहराई तक जाकर स्कैनिंग(Scanning) करके यह पता लगाते हैं कि उस वेबपेज का Tittle,URL और Keywords क्या हैं? इन्ही जानकारियों के आधार पर क्रॉलर्स यह पता लगाते हैं कि वह वेबपेज किस विषय पर है? और उस वेबपेज से जितने भी लिंक्स जुड़े हुए होते हैं ये क्रॉलर्स उन सभी लिंक्स पर जाकर उन सभी वेबपेज को स्कैन करते हैं। ये क्रॉलर्स किसी वेबपेज को बहुत तेज गति से Read करते हैं। इस तरह ये क्रॉलर्स सभी नई और पुरानी वेबसाइटस पर जा जाकर उनकी जानकारियाँ इकट्ठा करते रहते हैं।

2. Indexing

क्रॉलर्स जब किसी वेबसाइट के डाटा को इकट्ठा कर लेते हैं तो उसके बाद वे उस डाटा को डेटाबेस (Database) में स्टोर कर देते हैं। उसके बाद जब कोई यूजर अपनी इच्छानुसार कोई जानकारी को Keyword के रूप में लिखकर सर्च इंजन पर सर्च करता है तो वह सर्च इंजन उस जानकारी को अपने सर्वर से खोजकर उनकी एक लिस्ट तैयार करता है जिसे Index कहते हैं। जब यूजर द्वारा खोजी गयी जानकारी का परिणाम सर्च इंजन लोगो तक Index की लिस्ट के रूप में पहुंचाता है तो वह Index में किसी वेबपेज के Tittle, URL और Meta Description आदि ही परिणाम के रूप में दिखाता है।

परन्तु आज के इस आधुनिक समय में सर्च इंजन इतने ज्यादा आधुनिक हो चुके हैं कि वे खोजी गयी जानकारी को किसी वेबपेज से प्राप्त करके उस जानकारी को Index में सबसे ऊपर ही रिजल्ट के रूप में दिखा देते हैं जिसके चलते यूजर को किसी वेबसाइट पर जाने की जरूरत ही नहीं पड़ती है।

3. Ranking

Ranking के अंतगर्त सर्च इंजन यह निर्धारित करता है कि किसी भी वेबपेज के रिजल्ट को Index में किस स्थान पर रखना है। दूसरे शब्दों में, यदि कोई यूजर सर्च इंजन पर कोई जानकारी खोजता है तो सर्च इंजन यूजर द्वारा खोजी गई जानकारी से संबन्धित सभी वेबपेजों की लिंक्स को एकत्रित कर रिजल्ट के रूप में उन सभी की सूची (List) तैयार करता है और उस सूची के अंतगर्त किस वेबपेज की लिंक को परिणाम की सूची में किस स्थान पर रखना है यह निर्धारित करने का कार्य ही Ranking कहलाता है। सर्च इंजन उन्ही वेबपेजों की लिंक को ऊपर रखता है जिसमें यूजर को उसके द्वारा खोजी गई सटीक जानकारी मिल सके। 

सर्च इंजन में कई अरबों वेबपेज संग्रहित हैं जिनमें से यूजर द्वारा खोजी गई सटीक जानकारी वाले वेबपेज की लिंक को सर्च इंजन अपने अल्गोरिथम के अनुसार रिजल्ट पेज में स्थान अथवा Rank प्रदान करता है। अगर हम गूगल जैसे सर्च इंजन की बात करें तो गूगल हर वर्ष अपने रैंकिंग अल्गोरिथम बदलता ही रहता है जिसके चलते इसके रैंकिंग अल्गोरिथम को समझना बहुत कठिन है।


सर्च इंजन के प्रकार

  1. Crawler Based Search Engines
  2. Meta Search Engines
  3. Directories
  4. Hybrid Search Engines

1. Crawler Based Search Engines

Crawler Based Search Engines ऐसे सर्च इंजन होते हैं जो Crawlers अथवा Spider का उपयोग करते हैं। ये सर्च इंजन किसी भी वेबपेज पर Crawler के माध्यम से पहुंचकर जानकारी एकत्रित करते हैं और उस एकत्रित करी गई जानकारी को यूजर द्वारा खोजे जाने पर रिजल्ट के रूप में उस जानकारी से सम्बन्धित वेबपेजों की लिंक्स को दिखाते हैं। Google, Bing और Yahoo आदि ये सभी Crawler पर आधारित (Crawler Based Search Engines) ही हैं।

2. Meta Search Engines

Meta Search Engines ऐसे सर्च इंजन होते हैं जो दूसरे सर्च इंजनों पर आधारित होते हैं अथवा जब कोई यूजर Meta Search Engines पर कोई डाटा खोजता है तो वह सर्च इंजन स्वयं दूसरे सर्च इंजनों से उस डाटा को प्राप्त करके उसे यूजर तक पहुँचाता है। Dogpile और Yippy आदि Meta Search Engines ही हैं।

3. Web Directories

Web Directories एक प्रकार से वेबसाइटों की लिस्ट होती है। यह वेबसाइटों को अलग-अलग Categories और Subcategories में बाँटकर उनकी लिस्ट तैयार करता है अथवा Web Directories अपने अंदर वेबसाइटों को Folders के रूप में संग्रहित करके रखता है और जब कोई यूजर इन Web Directories की मदद से किसी वेबसाइट तक पहुंचना चाहता है तो वह यूजर इन Web Directories में Categories और Subcategories में उस वेबसाइट को खोज सकता है। botw.org और portal.eatonweb.com आदि Web Directories ही हैं।

4. Hybrid Search Engines

Hybrid Search Engines ऐसे सर्च इंजन होते हैं जोकि Crawler और Web Directory दोनों पर आधारित होते हैं अतः यह कहा जा सकता है कि ये सर्च इंजन Crawler और Web Directories इन दोनों का मिश्रण है। Google और Yahoo को Hybrid Search Engine भी माना जाता है क्योकि ये यूजर द्वारा खोजी गई जानकारी का रिजल्ट दिखाने के लिए इन दोनों (Crawler और Web Directory) का इस्तेमाल करता है।


निष्कर्ष

सर्च इंजन की सुविधा की वजह से ही आजकल इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाले लोगो की तादाद बढ़ रही है क्योकि सर्च इंजन की मदद से इंटरनेट पर संग्रहित जानकारियों को खोजने में बहुत मदद मिलती है जिससे कि समय की बचत तो होती ही है और साथ ही में सर्च इंजन को बेहद ही सरलता के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी हुई जानकारी सर्च इंजन क्या होता है? जरूर पसंद आई होगी और आपको हमारे द्वारा दी हुई जानकारी कैसी लगी ये हमें कमेंट करके जरूर बताएं और हमारी इस जानकारी को शेयर करना बिल्कुल भी न भूलें।

You May Also Like

0 comments

कृपया कमेंट बॉक्स में आप Spam link और आपत्तिजनक शब्द कमेंट न करें।