Tor Browser क्या है? इसे कैसे इस्तेमाल करते हैं?

by - जनवरी 28, 2020

tor browser in hindi

आजकल की इस इंटरनेट की दुनिया में लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते वक्त इस चीज का ध्यान रखते हैं कि इंटरनेट पर उनकी गोपनीयता बनी रहे और इंटनेट पर वो क्या-क्या करते हैं इसके बारे में किसी को पता नहीं लगे। अगर हम इंटरनेट पर गोपनीयता बनाये रखने वाले ब्राउज़र की बात करें तो Tor Browser सबसे चर्चित ब्राउज़र है। Tor Browser के इस्तेमाल से आप इंटरनेट पर जो कुछ भी करोगे इसकी जानकारी किसी भी कंपनी या फिर Govt. Agencies तक नहीं पहुंचेगी। तो दोस्तों Tor Browser के बारे में विस्तार से जानने की लिए हमारी इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें।


Tor Browser क्या है?

Tor Browser एक ऐसा ब्राउज़र है जिसके जरिए Dark Web की वेबसाइटस को Access किया जा सकता है। Tor Browser की फुल फॉर्म 'द अनियन राउटर' (The Onion Router) है। 'द अनियन राउटर' (The onion router) इसके नाम में ही इसका अर्थ छिपा हुआ है जिस प्रकार  अनियन(onion) यानि प्याज में बहुत सारी लेयर्स (layers) होती हैं ठीक इसी प्रकार इस ब्राउज़र में भी बहुत सारे VPN Servers की लेयर(layer) होती है। Tor Browser बहुत सारे VPN Servers से होकर किसी साइट तक पहुँचता है जिसके चलते इसको इस्तेमाल करने वाले का IP Address थोड़ी थोड़ी देर में बदलता रहता है इसलिए कोई भी Tor Browser को Access करने वाले के Location को ट्रेस नहीं कर सकता है। Tor Browser की वेबसाइट का डोमेन भी .com,.in या फिर .net जैसा नहीं होता है बल्कि Tor की वेबसाइटस का डोमेन .onion में होता है।


Tor Browser कैसे काम करता है?

जिस तरह VPN बदलने पर यूजर के डिवाइस का IP Address बदल जाता है और यूजर के डिवाइस को ट्रेस करके यूजर के लोकेशन तक नहीं पंहुचा जा सकता। ठीक उसी तरह Tor Browser में भी बहुत सारे VPN Servers होते हैं जिसके चलते थोड़ी-थोड़ी देर में इसके यूजर का IP Address बदलता रहता है और इसे इस्तेमाल करने वाले की गोपनीयता बनी रहती है इसलिए कोई भी Tor Browser का इस्तेमाल करने वाले को ट्रेस करके उसके लोकेशन तक पहुँच नहीं सकता है।

दूसरे शब्दों में, सामान्य ब्राउज़र्स में आप इंटरनेट पर जो भी कर रहे हैं, जो कुछ भी सर्च कर रहे हैं और जिस भी वेबसाइट पर विजिट कर रहे हैं उसकी जानकारी गूगल के पास पहुँच जाती है और उस जानकारी के आधार पर ही गूगल आपको विज्ञापन दिखाता है। जिससे ये बात साबित होती है कि इंटरनेट पर आप जो कुछ करते हो उसके बारे में आपके अलावा किसी अन्य को भी उसके बारे में पता है। लेकिन Tor Browser में आप जो कुछ भी करोगे उसकी जानकारी किसी अन्य तक नहीं पहुंचेगी।


यह भी पढ़ें - Dark Web क्या होता है?


Tor Browser को कैसे डाउनलोड करें?

Step - 1
  • सबसे पहले आप अपने ब्राउज़र में Google को ओपन कर लें।
Step - 2
  • उसके बाद आपको Google के सर्च बॉक्स में Tor Browser लिखकर सर्च करना होगा।
Step - 3
  • सर्च करने के बाद आप इसकी ऑफिसियल वेबसाइट www.torproject.org वाले ऑप्शन पर ही क्लिक करें।

नोट :- आप Tor Browser को इसकी ऑफिसियल वेबसाइट www.torproject.org से ही डाउनलोड/इनस्टॉल करें। अगर आप इसे किसी अनजान वेबसाइट या फिर किसी लिंक से डाउनलोड करेंगे तो आपके डिवाइस में वायरस आ सकता है या फिर आपका डिवाइस हैक भी हो सकता है।

Step - 4
  • इस वेबसाइट के ओपन होते ही आपको अपने device के icon पर क्लिक करना है। उदहारण - जैसे अगर आपके पास window डिवाइस है तो आप window के icon पर क्लिक कर दें और अगर आपके पास apple macbook है तो आप apple वाले icon पर क्लिक करें।
Step - 5
  • जैसे ही आप अपने डिवाइस के icon पर क्लिक करेंगे तो Tor Browser ऑटोमैटिक डाउनलोडिंग पर लग जाएगा।



Tor Browser को Install कैसे करें?

Step - 1
  • आपने जिस फोल्डर में Tor Browser को डाउनलोड किया है आप उस फोल्डर को ओपन करे लें और Tor Browser की जो फाइल डाउनलोड हुई है आप उसपर क्लिक करे दें।
Step - 2
  • जैसे ही आप Tor Browser की फाइल पर क्लिक करेंगे तो उसके बाद आपसे Installer language के बारे में पूछा जाएगा। यूँ तो इसमें English language पहले से ही select होगी और अगर आप इसे बदलना चाहते हैं तो आप इसे बदल भी सकते हैं और अगर आप इसके Installer language को बदलना नहीं चाहते हैं तो आप सीधा 'OK' पर क्लिक करदें।
Step - 3
  • उसके बाद, अगर आप इस ब्राउज़र के फोल्डर को किसी अन्य स्थान पर बनाना चाहते हैं तो आप 'Browse' पर क्लिक करके इसके फोल्डर के लोकेशन को बदल सकते हैं और अगर आप इसे default रहने देना चाहते हैं तो आप सीधा Install पर क्लिक करें।

Step - 4
  • उसके बाद Installing शुरू हो जायेगी।

Step - 5
  • इस ब्राउज़र के Install हो जाने के बाद अगर आप इसे run करना चाहते हैं अथवा तुरंत चलाना चाहते हैं तो आप इसके पहले बॉक्स पर tick लगा रहने और अगर आप इसे run नहीं करना चाहते हैं तो आप इस बॉक्स में क्लिक करके इसके tick को हटा सकते हैं।
  • अगर आप इस ब्राउज़र के शॉर्टकट को अपनी Desktop स्क्रीन पर लगाना चाहते हैं तो आप इसके दूसरे बॉक्स पर tick लगा रहने दें और अगर आप इसके शॉर्टकट को अपनी Desktop स्क्रीन पर नहीं लाना चाहते हैं तो आप इस बॉक्स में क्लिक करके इसके tick को हटा दें।
  • उसके बाद आप Finish पर क्लिक कर दें। तो दोस्तों अब आपका ब्राउज़र install हो चुका है।

Step - 6
Install करने के बाद जब आप इसे ओपन करेंगे तो आपके सामने 2 ऑप्शनस होंगे। अगर आप किसी ऐसे देश में हैं जहाँ पर Tor browser बैन है तो आप 'Configure' पर क्लिक करें। अगर आप भारत में हैं तो आप Tor browser का इस्तेमाल कर सकते हैं इसलिए आप 'Connect' पर क्लिक करें।

Step - 7
  • उसके बाद कुछ देर इंतज़ार करना होगा।
Step - 8
  • कुछ देर के बाद ये ब्राउज़र ओपन हो जाएगा। इसे Full-Screen पर करने के लिए आप इस Arrow के सामने वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दें।

Step - 9
  • तो दोस्तों अब ये ब्राउज़र पूरी तरह से ओपन हो चुका है। इसी तरह आप भी अपने डिवाइस में Tor Browser को डाउनलोड और Install करके इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।


Tor Browser का इस्तेमाल क्यों करते हैं?

साधारण ब्राउज़र के मुकाबले Tor browser को ज्यादा गोपनीय रूप से इस्तेमाल किया जा सकता है। आइए इसे क्रम में जानते हैं -

1. इस ब्राउज़र के इस्तेमाल से आप इंटरनेट पर जो भी कुछ करोगे उसकी जानकारी आपके अलावा किसी कंपनी या फिर किसी एजेंसी तक नहीं पहुँचेगी। इंटरनेट पर गोपनीयता बनाये रखने के लिए ये ब्राउज़र बेहद मददगार है

2. जो लोग इंटरनेट पर सुरक्षित वार्तालाप करना चाहते हैं वो लोग अपनी सीक्रेट बातें इस ब्राउज़र की मदद से कर सकते हैं। बहुत सारे पत्रकार इस ब्राउज़र की मदद से अपनी रिपोर्ट्स को एक-दूसरे से सांझा करते हैं। इसलिए कहा जा सकता है कि ख़ुफ़िया वार्तालाप के लिए ये ब्राउज़र बेहद मददगार है।

3. इस ब्राउज़र का इस्तेमाल करने से IP Address थोड़ी-थोड़ी देर में बदलता रहता है। जिससे कि इस ब्राउज़र का इस्तेमाल करने वाले को ट्रेस करके उसके लोकेशन तक नहीं पंहुचा जा सकता है और उस यूजर की जानकारी भी सुरक्षित रहती है

4. जैसा कि आप सब जानते हैं कि साधारण ब्राउज़र्स के सर्च इंजन 'गूगल' पर कुछ चीजों के सर्च किये जाने पर प्रतिबंध होता है। लेकिन Tor Browser की मदद से आप बिना किसी पाबंदी के किसी भी प्रकार की चीजों को सर्च कर सकते हैं।


Tor Browser को इस्तेमाल करते वक्त किन-किन बातों पर ध्यान दें?

  • आप Tor Browser को उसकी official वेबसाइट www.torproject.org से ही डाउनलोड करें। 
  • आप इस ब्राउज़र को किसी भी अनजान वेबसाइट या फिर किसी अनजान लिंक से डाउनलोड न करें वरना आपके डिवाइस में इस ब्राउज़र के बदले कोई भी वायरस इनस्टॉल हो सकता है।
  • Tor Browser का इस्तेमाल करते वक्त आप किसी भी अनजान लिंक पर क्लिक न करें। क्योकि Tor Browser पर दुनिया भर के हैकर्स हमेशा एक्टिव रहते हैं।
  • Tor Browser का इस्तेमाल करते वक्त आप अपनी पहचान हमेशा छिपा कर रखें कहीं पर भी अपनी सही जानकारी न दें।
  • Tor Browser पर आप ऑनलाइन मनी ट्रांसक्शन भूलकर भी न करें। क्योकि ऐसा करने पर आपके बैंक अकाउंट से सम्बंधित जानकारी किसी हैकर तक पहुंच सकती है।

क्या सभी Tor Browser का इस्तेमाल कर सकते हैं?

कुछ लोग ऐसा मानते हैं कि गलत और अवैध कार्य करने वाले लोग ही Tor Browser का इस्तेमाल करते हैं लेकिन दोस्तों आपको बता दें कि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। कोई भी इस ब्राउज़र को फ्री में डाउनलोड करके इसका इस्तेमाल कर सकता है। वैसे तो कुछ देशो में Tor Browser के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा हुआ है लेकिन अगर आप भारत में Tor Browser का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आप इसे डाउनलोड करके इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। भारत में Tor Browser पर कोई प्रतिबंध नहीं है आप बिना किसी पाबंदी के इस ब्राउज़र का इस्तेमाल कर सकते हैं।


निष्कर्ष

हम उम्मीद करते हैं कि आप Tor Browser क्या है? इसे कैसे इस्तेमाल करते हैं? इसके बारे में अच्छे से जान चुके होंगे। आपको हमारी दी हुई जानकारी कैसी लगी ये हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर आपको हमारा ब्लॉग पसंद आया तो आप हमारे इस ब्लॉग को सोशल मीडिया (जैसे - फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप्प आदि) पर शेयर शेयर करना बिल्कुल भी न भूलें।

You May Also Like

0 comments

कृपया कमेंट बॉक्स में आप Spam link और आपत्तिजनक शब्द कमेंट न करें।